गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें 2024|Gaon Me Machinery Business Kaise Kare

मै कपिल कश्यप आज फिर से आप सभी भाइयों का दिल से स्वागत करता हूं और आशा है 2023 का साल आपके लिए अच्छा गया होगा और कामना करता हूं आपके लिए की आने वाला नया साल 2024 भी आपके लिए बहुत खुशियां लेकर आए और आपके जो सपने हैं बिजनेस करने के वह सभी पूरे हो।

जैसे कि आप सभी भाई हमारा यह एक बिजनेस ब्लॉग है, यहां पर हम बिजनेस और फाइनेंस से रिलेटेड ही आर्टिकल के द्वारा आपको जानकारी देते हैं ताकि आप कौन से बिजनेस प्रॉफिटेबल हो वह आप सब कर सकें और अपने सपने पूरे कर सकें।

आपने 2023 में हमें बहुत प्यार दिया इसके लिए हमारे ब्लॉग टीम से की तरफ से आपको धन्यवाद।

तो दोस्तों जैसे कि हम सबका सपना होता है की अपना बिजनेस हो ताकि हम अपनी मर्ज़ी से आज़ादी के साथ अपना बिज़नेस कर सके।

आज हम जिस विषय पर इस आर्टिकल में आपको जानकारी देने जा रहे हैं की गांव में मशीनरी बिजनेस कैसे करें ? जी हां, यह बहुत ही मुनाफे वाला बिजनेस साबित हो सकता है अगर आप इसको 2024 में स्टार्ट करते हैं।

इस पोस्ट में हम गांव में मशीनरी बिजनेस कैसे करें के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं और आप घर बैठे मशीनरी बिजनेस स्टार्ट करके अच्छा प्रॉफिट महीने का कमा सकते हैं।

दोस्तों, मशीनरी का बिजनेस स्टार्ट करने से पहले मैं आपको यहां पर यह बता देना चाह रहा हूं कि मशीनरी का बिजनेस स्टार्ट करने के लिए काफी पैसे की जरूरत होगी लेकिन जब आप इस मशीनरी बिजनेस को एक बार स्टार्ट कर लेते हैं और जब आपको सफलता मिलने लगेगी तो आपका काम और बढ़ेगा।

चलिए आगे बढ़ते हैं आर्टिकल को पढ़ने से पहले मेरा आप सभी से निवेदन है कि आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े ताकि आप यह जान सके कि गांव में मशीनरी बिजनेस कैसे करें 2024 में।

गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें

सबसे पहले आपको अपने चारों और मार्किट को रिसर्च करना होता हैं. एक एसी चीज जो या तो डिमांड में बनी रहती हैं या लोकल में उसकी प्राइस बहुत अधिक हैं.

जब कंपनी या फेक्ट्री किसी प्रोडक्ट का उत्पादन करती हैं तो कस्टमर तक पहुँचाने तक पहुँचाने से तक उस पर परिवहन और स्टोर का चार्ज जोडती रहती हैं. अगर आप इस अतिरिक्त प्राइस को कम कर दे तो लोग आपके सामान की तरफ आकर्षित होंगे. यहाँ हम कुछ गाँव मे शुरू किये जाने वाले मशीनरी बिजनेस के बारें में बता रहे हैं.

गाँव में मशीनरी का बिज़नेस का फ्यूचर काफी अच्छा है अगर कोई व्व्यक्ति इस बिज़नेस को स्टार्ट करना चाहता है तो इस बिज़नेस में मोटा पैसा चाइये कियुँकि इसमे काफी हैवी और महंगी मशीनरी खरीदनी पड़ती है और फैक्ट्री लगाने के लिए कम से कम 2000 गज का इंडस्ट्रियल प्लाट की भी आवश्यकता पड़ेगी जिसकी कीमत लाखों रुपये में होगी , अगर आपके पास बजट नहीं है तो लोन भी ले सकते हैं , msme से तरुण , किशोर लोन ले कर भी आप इस बिज़नेस को स्टार्ट कर सकते हैं।

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए लाखों रुपये की मशीन खरीदनी आवश्श्यकता होगी sbi बैंक से मशीनरी लोन भी आपको मिल जाएगा।

गाँव में मशीनरी बिज़नेस की लिस्ट नीचे दी गई है इसंमेय से आप अपने बजट के हिसाब से कोई भी बिज़नेस शुरू कर सकते हैं।

नारियल तेल मशीनरी बिजनेस

जैसे कि आपको भली भांति पता होगा की सूखे नारियल का प्राइस ₹ 110 से लेकर 150 रुपए किलो तक होता है और किसी भी मार्केट में नारियल तेल का रेट लगभग 290 रुपए से लेकर 450 ₹ 400 प्रति लीटर के बीच में होता है

एक सूखे हुए नारियल में से तेल तो निकलता ही निकलता है बल्कि उसके हाथ खली भी निकलती है कि जो की मार्केट में अच्छे रेट पर भी जाती है नारियल की जो खली होती है उसका रेट ₹ 25 से लेकर 30 रुपए प्रति किलो की कीमत पर मार्केट में बिकता है।

नारियल का तेल तो मार्केट में बिकता है साथ में हेयर टॉनिक, साबुन और कॉस्मेटिक से संबंधित आइटम भी इससे बनते हैं अगर आप अच्छी रिसर्च से नारियल तेल का बिज़नेस स्टार्ट करते हैं तो बहुत ज्यादा फायदा आपको इस बिजनेस से होगा।

कोकोनट ऑयल बनाने के लिए रो मटेरियल चाहिए होता है आपको जानकर आश्चर्य होगा कि नारियल का तेल बनाने के लिए सिर्फ सूखा नारियल ही लगता है और इसकी हर जगह चाहे वह लोकल मार्केट हो या कहीं भी उसकी डिमांड पूरे भारतवर्ष में है।

नारियल तेल मशीनरी बिजनेस करे

नारियल तेल बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए कुछ महतवपूर्ण करक निचे दिए है अगर आप इनको पालन करते है तो बिज़नेस चलने के अच्छे चांस बन जाते हैं।

  • आटोमेटिक मशीन
  • अच्छी लोकेशन
  • रजिस्ट्रशन
  • जरुरी लाइसेंस
  • कच्चा माल

नारियल के तेल निकालनी की मशीन की पूरी जानकारी

Quantity1 Piece
Power of Machine12.5HP
Operation TypeSemi Automatic
ApplicationMultiSeed Oil Extraction
Type of MachineNew
Warranty1 year for motor warranty
BrandAndavar
Country of OriginMade in India

साबुन बनाने का मशीनरी बिजनेस

साबुन का बिज़नेस एक ऐसा बिज़नेस है जो की हमेश चलता है कियुँकि इंडिया की जनसँख्या 1,50,0000000 से भी ज्यादा है और इतनी संख्या में ही साबुन की मांग भी होती होगी कियुँकि सभी लोग रोज नहाते है तो साबुन का भी इस्मेमाल करते हैं।

साबुन के बनाने का काम शुरू करने से पहले आपको इस बिज़नेस की अच्छी प्रकार से रिसर्च करनी होगी और इसके अलाबा साबुन बनाने की ट्रेनिंग भी लेनी होगी।

साबुन के लिए दो मेटेरियल की जरुरत होती है एक पोटेशियम और सोडियम हाइड्रोऑक्साइड यह कच्चे माल भारत देश में आसानी से कही भी मिल जाते है जबकि विदेश में यह दोनों मेट्रिअल मुश्किल से मिलते है इसलियए आप साबुन को बहार विदेश में भी बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हो।

साबुन बनाने का मशीनरी बिज़नेस कैसे शुरू करे

साबुन बनाने का मशीनरी बिज़नेस शुरू करने से पहले आपको कुछ जरुरी डॉक्यूमेंट व लाइसेंस की आवश्यकता होगी इसके अलाबा इस बिज़नेस को स्टार्ट कैसे करे पूरा प्रोसेस दिया गया है :

  • 1000 स्कॉयर फुट का कमरा
  • जरुरी लाइसेंस
  • सरकार से रजिस्ट्रेशन
  • जरुरी मशीनरी
  • 5 लोगों का स्टाफ
  • डिलीवरी के लिए ट्रांसपोर्ट

आटा चक्की की मशीन लगाकर बिजनेस करें

दोस्तों अगर आपने गांव में मशीनरी बिजनेस का प्लान बना ही लिया है तो आपके लिए एक बिजनेस और है यह आटा चक्की का बिजनेस जी हां आटा चक्की की बिजनेस गांव के एरिया में बहुत ज्यादा चलता है और इसमें मशीनरी की लागत 40 से ₹ 50000 तक के बीच में होती है

आटा चक्की के साथ आप आटा पीसने का काम तो करेंगे ही साथ में आप कई अन्य प्रकार के तेल जैसे सरसों का तेल, तिल का और भी कई प्रकार के तेल निकालने का काम और कर सकते हैं।

इस प्रकार के काम गांव में बहुत ज्यादा चलते हैं यह काम आप अपने घर में भी शुरू कर सकते हैं या फिर मुख्य बाजार में आप एक छोटी सी किराये पर दुकान लेकर भी शुरू कर सकते हैं।

आटा चक्की का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है इसकी हमेशा डिमांड बनी रहेगी गेहूं आटा पीसने की चक्की से आप महीने के 30 से 40 हजार रुपए महीने के कमा सकते हैं।

आटा चक्की की मशीन बिज़नेस कैसे स्टार्ट करे :

गांव में आटा चक्की की मशीन लगाने से पहले आपको एक मुख्य बाजार में 10 बाय 10 का स्पेस देखना होगा और वहां पर अगर राशन की दुकानें हैं तो और बेहतर होगा इसके साथ ही आपके आसपास में कोई आटा चक्की की दूसरी अन्य दुकान ना हो तो बेहतर होगा जिससे कि आपके पास काफी Customers पर आएंगे

आटा चक्की की मशीन लगाने से पहले आपको इस काम की थोड़ी बहुत जानकारी जरूर होनी चाहिए जैसे की मशीन कैसे चलाते हैं अगर मशीन कभी खराब हो जाए तो उसकी रिपेयरिंग भी करनी आपको आनी चाहिए

कौन सा आटा कितनी देर में पिस जाता है क्योंकि कहीं प्रकार के अनाज होते हैं उनको पीसने में अलग-अलग टाइम लगता है इसके लिए आपको कुछ जरूरी जानकारी हासिल करनी होगी

आटा चक्की शुरू करने के लिए सरकारी परिक्रिया से गुजरना पड़ेगा कई प्रकार के लाइसेंस भी आपको सरकार से लेने पड़ेंगे

आटा चक्की बिज़नेस के लिए जरुरी लाइसेंस

लाइसेंस केवल बड़े आटा मिल चक्की फैक्ट्री को लेना पड़ता है छोटी व घरेलु आटा मशीने लगाने के लिए कुछ जरुरी कदम निम्नलिखित है :-

  • बिजनेस एनटाइटी लाइसेंस
  • FSSAI से रजिस्ट्रेशन जरुरी है
  • ट्रेड लाइसेंस की जरूरत पड़ेगी
  • उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन नम्बर लेना होगा

आटा चक्की बिज़नेस कितने प्रकार के होते हैं ?

आटा चक्की का बिजनेस दो तरह से शुरू किया जा सकता है पहले तो यह जिसमे आपको कम पैसे की जरूरत पड़ेगी और कम जगह की जरूरत पड़ेगी और दूसरे प्रकार के लिए आपको बड़ा सेटअप लगाना पड़ेगा और उसमें लाखों रुपए की जरूरत पड़ेगी।

बेसिक या छोटी मिल

इस बिजनेस में आटा मसाला या अन्य प्रकार के अनाजों की पिसाई की जाती है इसमें कस्टमर खुद अपने अनाज व मसाले लेकर आपकी मिल में पीसने के लिए दे जाते हैं तो यह छोटा बिजनेस है।

इसको बड़ी आसानी से जल्दी ही शुरू कर जा सकता है और इस छोटे सेटअप में पैसा भी बहुत कम लगेगा और ना ही इसमें ज्यादा जमीन की आपको आवश्यकता पड़ेगी।

फ्लोर मिल

फ्लोर मिल एक बड़ा बिजनेस होता है इसके लिए एक बड़ा सेटअप वह बड़ी जगह चाहिए और लाखों रुपए में यह बिजनेस स्टार्ट होगा इसमें आपको कंपनी शुरू करनी पड़ेगी और उसको आप बहुत बड़ा बिजनेस बना सकते हैं।

इस प्रकार की मिल में आप किसानों से या मंडियों से अच्छी क्वालिटी का अनाज मसाले खरीद कर और उससे अच्छी प्रकार से साफ करते हैं और उसके बाद पीसते हैं और उसे पिसे हुए आटे को या मसाले को आप अपना ब्रांड बनाकर अपनी खुद की पैकिंग में किसी भी बाजार में बेच सकते हैं।

इस बिजनेस में बहुत बड़ी इन्वेस्टमेंट और बहुत ज्यादा जमीन की तो आवश्यकता पड़ेगी ही साथ में कई प्रकार के लाइसेंस की भी आपको जरूरत पड़ेगी इस बिजनेस को स्टार्ट करने के बाद आप महीने के लाखों रुपए मुनाफा आसानी से कमा सकते हैं।

गोबर से लकड़ी और उपले बनाने की मशीनरी बिज़नेस

अगर अपने गांव में मशीन की बिजनेस करने का फैसला ले ही लिया है तो अभी एक ऐसा काम भी हम आपको बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप चौंक जाएंगे, जी हां गोबर से लकड़ी और उपले बनाने का बिजनेस जी हां आप शहर में रहते हैं या गांव में अगर आप गांव में मसीनरी का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो अगर आपके पास गाय या भैंस है तो आप उसको अपने खेतों में खाद के लिए उपयोग मत करो इससे आपको बहुत बड़ा नुकसान हो रहा है।

हम आपको एक ऐसी मशीन के बारे में बताने वाले हैं जिससे कि आप अपने घर का गोबर या अन्य लोगों से भी गोबर खरीद के उसके उपले या लकड़ी बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हो।

इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं की भैंस के गोबर से बनी एक लकड़ी इसकी डिमांड मार्केट में पहले की तुलना में काफी बढ़ गई है अभी तक सभी लोग जो गांव में रहते हैं गोबर से सिर्फ उपले बनाते रहे हैं।

अब मशीनरी के बिजनेस शुरू करने के बाद आपको ऐसा नहीं करना है हम बताने जा रहे हैं आपको को गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन के बारे में।

गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन

गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन को हम डंग मशीन कहते हैं जी हां डंग मशीन ग्रामीण बाजारों में आराम से उपलब्ध है।

सबसे पहले आपको गोबर को ईखट्टा करके इस मशीन में डालना है इसके बाद मशीन ऑटोमेटिक तरीके से ही गोबर से लकड़ी बनाकर मशीन से बाहर निकालती रहेगी इसे आपको उन टुकड़ों को अच्छी तरीके से खुले स्थान पर सूखने के लिए छोड़ देना है।

डंग मशीनरी लगाने का कितना खर्चा आएगा

अगर डंग मशीन को आप किसी छोटे से प्लॉट पर सेटअप करते हैं तो सिर्फ इसमें बिजली का ही खर्च आने वाला है यह गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन 5 हॉर्स पावर की होती है इसके खर्च की बात करी जाए तो यह लगभग 1 घंटे में एक यूनिट ही बिजली की खपत करती है और 1 घंटे में 200 से ज्यादा उपले का प्रोडक्शन कर सकती है।

इस मशीन में आप गोल उपले की जगह चौकोर , लंबे, मोटे, छोटे पाइप के तरह दिखने वाले उपले भी बना सकते हो और इस आकार के कारण ही इस गोबर से बनी इस आकृति में उसकी लकड़ी कहा जाता है।

कहां पर बेचें

डांग मशीन को लगाने के बाद इसके प्रोडक्शन में आप ज्यादा लकड़ी में बना सकते हो अगर आपके पास भैंसों का भंडार या गायों का तबेला है , यांनी की दूध का बिजनेस है यानी कि अगर आप डेरी के मालिक हैं।

तब यह मशीन आपकी बहुत ही काम आने वाली है और यह आपके भैंस गाय के गोबर से हजारों लाखों की कमाई करके आपको दे सकती है जब आप इस मशीन को लगा सकते हैं तो इसको बेचने के लिए अपने आसपास की ऐसी जगह पर जाइए जहां रोजाना लकड़ी की बहुत ज्यादा खपत होती है इनमें से रेस्टोरेंट होटल छोटे ढाबे और शमशान घाट भी हो सकता है।

Machine Specifications :

Sr. No.Item’s Name Machine DescriptionsFull Specification
1.Base FrameAngle 50x50x6 mmI.S. 2062
2.Cow Dung BucketFrom top 20″x18″x 16″ height & 6″x7″I.S 2062
3.PipeI.D 8: with 452 MM lenghtI.S. 2062
4.Warm8″ with 2.5 mm sheet thickenssTempered
5.Motion Shaft60×214 mmI.S. 2062
6.Flag11″x11mm thickI.S 2062
7.Move able trolleyWheel size 8″x3″Rubber Wheel
8.BearingP-209, F-209, P-206U.C bearing
9.Pulley1. 18×2, B Class2. 3.5″x2, B Class3. 10″x2″ B ClassCast iron
10.Weight with motor2 quintal 10 kg.

दोना पत्तल बनाने का बिजनेस ( Dona Pattal Banane Business )

दोस्तों आजकल जब भी कहीं किसी के घर में पार्टी होती है जैसे की शादी हो गई सगाई हो, बर्थडे की पार्टी , एनिवर्सरी , तेरहवानी , हसबैंड वाइफ की एनिवर्सरी हो ऐसे प्रोग्राम शहर हो गांव में चलते ही रहते हैं और लोग उन कार्यक्रम में खाना खाने आते हैं आजकल दोना पत्तल सस्ता भी पड़ता है और इसको धोना भी नहीं पड़ता क्योंकि जो बर्तन होते हैं उनमें लोग खाना खाते हैं तो उनके लिए एक कामवाली या काम वाला व्यक्ति को साफ करता रहता है जो की अच्छी तरह साफ भी नहीं होते हैं।

दोना पत्तल खाओ और इसको फेंको इसमे बड़ी सहूलियत हो जाती है , और लोगों को खाना इसमें अच्छा भी लगता है।

पत्तल और दोना शहर और गांव में दोनों तरफ भी चलता है और इसकी दुकान हर बाजार पड़ा हो या छोटा बाजार हर जगह इसकी दुकान मिलेंगे,

दोना पत्तल आपको छोले भठूरे , हलवाई , या परशाद की दूकान पर भी बहुत ज्यादा उपयोग में आते है।

लेकिन क्या आपको यह पता है कि गांव में दोना पत्तल की मशीन लगाकर बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं यह मशीन केवल 45000 रुपए में बाजार में उपलब्ध है यह एक सस्ती सेमी ऑटोमेटिक दोना और पत्तल बनाने की मशीन होती है इस बिजनेस में मुनाफा दोगुना होता है और यह गांव में मशीनरी बिजनेस का सबसे अच्छा आईडिया है।

पहले रजिस्ट्रेशन कराएं

दोनों और पत्तल की मशीन लगाने से पहले सरकार के साथ कुछ रजिस्ट्रेशन वह कुछ जरूरी लाइसेंस की भी आवश्यकता होती है जो की बहुत ही जरूरी है नीचे कुछ स्टेप्स दिए गए हैं उनको फॉलो करके आप दोना पत्तल बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं:-

  1. यूनिट का लेआउट प्लान
  2. मैन्युफैक्चरिंग प्रॉसेस
  3. निगम लाइसेंस की कॉपी
  4. साइट पजेशन का प्रूफ
  5. GST रजिस्ट्रेशन

एम्प्लॉयमेंट स्टेट इंश्योरेंस

  • अगर आपकी फैक्ट्री में 10 से ज्यादा लोग काम करने वाले हैं तो एम्प्लॉयी स्टेट इंश्योरेंस कवर लेना पड़ेगा जरुरी होगा।
  • इसके तहत वही काम करने वाले आएंगे, जिनकी महीने की सैलरी 15,000 रुपए से कम होती है।
  • इसका मकसद कर्मचारियों को मुफ्त मेडिकल सुविधाएं देना है

एम्प्लॉयीज प्रॉविडेंट फंड (EPF) रजिस्ट्रेशन

  • अगर 20 से ज्यादा लोग आपकी फैक्ट्री में है उन् सभी को प्रॉविडेंट फंड में रजिस्ट्रेशन लेना जरुरी है।
  • इससे कम कर्मचारी संख्या वाले एम्प्लॉयी चाहें तो अपनी मर्ज़ी से रजिस्ट्रेशन ले सकते हैं।

बोरवेल मशीनरी बिज़नेस शुरू करें ( Borewell Machinery Business Shuru Kare )

दोस्तों सबसे सस्ती और सबसे जरुरी पानी है अगर पानी ही ना हो तो धरती पर सब कुछ रुक सा जाएगा सब पशु पक्षी , खेती बाड़ी , और हम मनुष्य तो पानी के बिना कुछ घंटे भी नहीं रह सकते , पहाड़ों की शान पानी के बड़े बड़े सुन्दर झरने ही होते है सोचो अगर पानी ना हो तो किया होगा , जो होगा उसकी कल्पना ही नहीं हो पाएगी।

इसलिए पानी का कोई भी बिज़नेस कर लो उसमे तगड़ा मुनाफा होता है चाहे पीने का पानी का बिज़नेस हो , रो वाटर का बिज़नेस हो , खारा पानी को शुद्ध व पीने लायक पानी में बदलना हो या फिर बोरवेल का बिज़नेस हो सभी पानी के बिज़नेस में मोटा मुनाफा है।

यहाँ मशीनरी बिज़नेस की कड़ी में बोरवेल का भी काम जोड़ते हुए बताएँगे की बोरवेल मशीनरी का बिज़नेस कैसे शुरू क्या जा सकता है।

बोरवेल कितने प्रकार के होते हैं

बोरवेल करने के दो प्रोसेस होते हैं

  • मैनुअली
  • मशीन द्वारा

240 फीट तक का कहीं अगर पानी निकालने के लिए गड्ढा खोदना पड़ता है तो यह प्रक्रिया मैन्युअल भी करि जा सकता है अगर खुदाई की गहराई ज्यादा है तो फिर उसके लिए मशीनों की जरूरत पड़ती है।

स्टार्टिंग में अगर आपके पास ज्यादा बजट नहीं है तो आप मैनुअल तरीके से भी बोरवेल का काम शुरू कर सकते हैं जब आपका बिजनेस एक बार चल जाए आपके कई कस्टमर आपसे रेगुलर काम कराने लग जाए तो आप एडवांस मशीन खरीद कर भी मशीनों के द्वारा इस बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं।

मशीन से बोरवेल की खुदाई का काम बहुत ही कम समय में हो जाता है और यह बोरवेल की मशीन ज्यादा कोस्टली नहीं होती है और बाजार में करीब 90 हजार रुपए से लेकर सवा लाख रुपए तक के बजट में आपको यह उपलब्ध हो सकती है।

बोरवेल का बिज़नेस कैसे शुरू करें ?

बोरवेल मशीनरी का बिजनेस करना कोई छोटा काम नहीं है अगर बोरवेल के बिजनेस को सही तरीके और प्री प्लान से करा जाए तो इससे महीने का काफी प्रॉफिट आप कमा सकते हैं तो लिए आगे बढ़ने से पहले जानते हैं कि बोरवेल के बिजनेस में किस-किस की जरूरत होती है

बोरवेल बिजनेस के लिए सही प्लानिंग

बोरवेल के बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए सही प्लानिंग करने की आवश्यकता होती है इस तरह यह बोरवेल मशीनरी बिजनेस में भी एक अच्छी है सोच समझकर तैयारी करनी होगी जिससे कि आपका बोरवेल बिजनेस काफी आगे तक बड़े और आपकी योजनाओं के हिसाब से अच्छी इनकम हो सके।

बोरवेल बिजनेस में आने वाली कास्ट बिजनेस में कितने लोगों को अपने कंपनी में काम पर रखना है कौन-कौन से पार्ट्स या मशीन की जरूरत होगी मशीन पर कितना खर्चा होगा और उसे खर्च के हिसाब से प्रॉफिट कितना होगा ये सब की भी पहले प्लानिंग।

बोरवेल बिजनेस के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होगी

बोरवेल का काफी बड़ा बिजनेस है यह कैसा बिजनेस है इसमें आपको बोरवेल मशीन के अलावा कई प्रकार के महंगे में सस्ते बाजार की भी आवश्यकता होगी इसमें की आपको एक बड़ा बजट बनाकर चलना पड़ेगा इसलिए और बैल बिजनेस को शुरू करने से पहले अच्छा बजट बनाकर तैयार रहना होगा।

बोरवेल बिजनेस में कैसे सफल हो ?

बोरवेल मशीन की बिजनेस बहुत बड़ा बिजनेस होता है वैसे इस काम में किसी डिग्री की कोई आवश्यकता नहीं पड़ती है लेकिन इसमें आपको इस काम का अच्छा अनुभव होना चाहिए जिससे कि कहीं आपको आवश्यकता पड़ने पर इसका सॉल्यूशन निकाल सके क्योंकि यह धरती में खुदाई का संबंधित काम है धरती के अंदर जब खुदाई होती है तो उसमें आपको कुछ पता नहीं की कहां पर कोई बड़ा पत्थर आ जाए और आपका मशीन का ब्लेड टूट जाए।

कई बार ऐसे होता है कि नीचे पत्थर आने से आपकी बोरवेल मशीन का जो ब्लेड होता है वह लाखों रुपए का होता है और कई बार अंदर ही फंस जाता है इसलिए इस काम को शुरू करने से पहले आपको काफी अनुभव की जरूरत है जो लोग अनुभभी होते हैं वह यह देखकर बता देते हैं कि इस जमीन के नीचे पथरीली जमीन है या नमी जमीन है।

तो वह आगे यही सोचकर काम शुरू करते हैं अगर उनको लग रहा है कि यहां पर पथरीली चट्टानें होगी तो या तो वह ज्यादा पैसे लेते है कियुँकि यहाँ जोखिम बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है।

बोरवेल बिज़नेस के लिए कौन सी मशीनों की आवश्यकता होगी ?

से कि हमने पहले बताया है की बोरवेल के बिजनेस को दो प्रकार से करा जाता है एक मैन्युअल और एक मशीनों के द्वारा लेकिन इसमें ज्यादा हाई-फाई प्रकार की मशीनों की जरूरत नहीं होती है और अगर आप खुदाई का काम मैन्युअल कर रहे हैं तो उसके लिए आपको थोड़ा सामान की आवश्यकता जरूरत पड़ती है जो जो सामान की आपको जरूरत पड़ेगी उसकी नीचे लिस्ट दी गई है:-

  • खुदाई के लिए सॉकेट (Excavator Socket)
  • सलाई रिंच (Pathfinder Wrench)
  • रिंच (Wrench)
  • पाइप

लेकिन अगर आप इस काम को हाथों से ना करके मशीनों से करना चाहते है की प्रोजेक्ट जल्दी समय में ही पूरा हो जाये तो आप बोर्रिंग मशीन के साथ भी यह काम पूरा कर सकते हैं।

बोरवेल के बिज़नेस में कितने लोगों की जरुरत होगी ?

अगर आप यह बिजनेस जल्दी शुरू करना चाह रहे हैं तो यहां पर हम बता देना चाह रहे हैं कि शुरू में छोटा सा कोई प्रोजेक्ट मिलने पर आप दो या चार मजदूरों के साथ भी काम कर सकते हैं बाद में जैसे और बड़े प्रोजेक्ट्स आपको मिलते हैं तो वहां पर आप अपना स्टाफ काम के हिसाब से पढ़ सकते हैं ।

बोरवेल के बिज़नेस में कितनी लगत आएगी ?

बोरवेल बिजनेस में आपको कई प्रकार की छोटी व बड़ी मशीनों की आवश्यकता तो पड़ेगी ही साथ ही आपको मजदूर की भी जरूरत पड़ेगी मशीन आपको डेढ़ लाख रुपए की बजट में मिल जाएगी ।

इसके साथ ही कुछ औजार की खरीदने होते हैं जो कि ज्यादा महंगे ना होकर सस्ते ही मिल जाते हैं दिल्ली के चावड़ी बाजार में आपको सभी प्रकार की मशीन के पार्ट्स है औजार सस्ते रेट पर वहां मिल जाएंगे तो इन सब से आपको यह अंदाजा लग जाएगा कि बोरवेल के बिजनेस को स्टार्ट करने में कितनी लागत आने वाली है ।

बोरवेल के बिज़नेस में कितनी कमाई होगी

बोरवेल बिजनेस में आप कितना प्रॉफिट कमा सकते हैं इस बात पर डिपेंड करता है कि आपको प्रोजेक्ट कितना बड़ा मिलता है खुदाई कितनी गहरी करनी है और कितने समय तक का काम होगा इसमें एक फिक्स कमाई नहीं है अगर आपको ज्यादा बड़ी कमाई करनी है तो आपको 5 प्रोजेक्ट लेने पड़ेंगे ।