श्री खाटू श्याम मंदिर के दर्शन व यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी

Khatu Shyam Mandir ki Jankari:खाटू श्याम मंदिर भारत के मशहूर मंदिरों में से एक है जो हिंदू धर्म के आस्था का प्रतीक है हम आपको बता दें कि खाटू श्याम मंदिर भारत के राजस्थान के सीकरी जिले से करीब 65 किलो मीटर दूरी पर स्थित है हम आपको बता दें कि प्रत्येक साल इस मंदिर में 90 लाख से अधिक श्रद्धालु इस मंदिर में भगवान खाटू श्याम के दर्शन करने के लिए आते है |

ऐसे में अगर आप भी अपने परिवार के साथ  खाटू श्याम मंदिर जाना चाहते हैं तो लेकिन खाटू श्याम मंदिर कैसे जाएंगे  उसके बारे में अगर आप कुछ नहीं जानते हैं तो आज के आर्टिकल में हम आपको “श्री खाटू श्याम मंदिर के दर्शन व यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी” के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे इसलिए आप हमारे साथ बने रहे हैं आईए जानते हैं-

खाटू श्याम मंदिर का इतिहास

खाटू श्याम मंदिर का निर्माण रूप सिंह चौहान और उनकी पत्नी नर्मदा कंवर ने वर्ष 1027 ईस्वी में करवाया था। लेकिन 1720 ईस्वी में मंदिर को दोबारा से मरम्मत करवाया गया था |

लेकिन हम आपको बता दे की खाटू श्याम मंदिर के निर्माण का इतिहास काफी पुराना है और वह महाभारत काल से जुड़ा हुआ है आप लोगों ने बराबरी का नाम जरुर सुना होगा बर्बरीक पांडव महायोद्धा भीम के पोते थे उनके बारे में कहा जाता है कि वह काफी साहसी और महान योद्धा थे |

दरअसल बर्बरीक महाभारत के युद्ध में सम्मिलित होना चाहता था जो की पांडवों के हित के लिए अच्छा नहीं था क्योंकि बर्बरीक के बारे में कहा था कि वह महाभारत युद्ध का समापन अपने एक तीर के माध्यम से कर सकता था|

श्री कृष्ण को यह बात बहुत अच्छी तरह से मालूम थी इसलिए भगवान से किसने बर्बरीक को रोकने के लिए उसकी परीक्षा लेने का फैसला किया और वह साधु के भेष में में चले गए और उन्होंने उसे कहा कि मुझे कुछ दान में चाहिए इस बार बाबरी ने कहा कि आपको क्या चाहिए तो भगवान श्री कृष्ण ने कहा कि

मुझे आपका शीश चाहिए बर्बरीक समझ गया क्या कोई और नहीं बल्कि भगवान श्री कृष्णा है इसके बाद बर्बरीक खुशी-खुशी अपना शिष्य भगवान श्री कृष्ण को दान दे दिया इसके बाद भगवान श्री कृष्ण ने बर्बरीक को वरदान दिया कि कलयुग में तुम खाटू श्याम के नाम से लोगों के द्वारा पूछे जाओगे और जो भी व्यक्ति तुम्हारी पूजा करेगा उसके जीवन के सभी दुख दूर हो जाएंगे इसके बाद से खाटू श्याम भगवान की पूजा लोगों द्वारा की जाने लगी|

खाटू श्याम मंदिर का निर्माण

खाटू श्याम मंदिर की वस्तु कला बेजोड़ है है इस मंदिर को बनाने के लिए पत्थर, टाइल्स, चुने के मोर्टार और अन्य कई तरह के दुर्लभ पत्थर से किया गया है। मंदिर के ठीक सामने  केंद्र में प्रार्थना कक्ष है, जिसे जगमोहन कहा जाता है। 

मंदिर के दीवारों पर ऐतिहासिक प्राणियों को चित्र के रूप में चित्रित किया गया है मंदिर के प्रवेश और निकास द्वारा को संगमरमर पत्थर से बनाया गया है बाबा खाटू श्याम की मूर्ति मंदिर के गर्भकाल में स्थापित की गई है मंदिर के सभी दीवारों को सोने  और चांदी के द्वारा सजाया गया है  मंदिर के परिसर में एक सुंदर बगीचा है जो मनमोहक है जब भी लोग यहां पर खाटू श्याम मंदिर के दर्शन करने के लिए आते हैं तो इस बगीचे में जरूर जाते हैं |

भगवान खाटू श्याम की पूजा के लिए फूल इसी बगीचे से आते हैं और हम आपको बता दें कि मंदिर के परिसर में श्याम कुंड है जहां पर  खाटू श्याम भगवान सिर  रखा गया है और इसमें जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से स्नान करता है उसके जीवन के सभी दुख दूर हो जाते हैं|

खाटू श्याम मंदिर कहाँ है?

बाबा खाटू श्याम का मंदिर राजस्थान राज्य के सीकर जिले के रीगस टाउन के आसपास स्थित है यहां पर आप सड़क रेल और हवाई मार्ग द्वारा जा सकते हैं|

खाटू श्याम मंदिर जाने का समय

खाटू श्याम मंदिर अगर आप जहां चाहते हैं तो उसके लिए अक्टूबर से मार्च का महीना आपके लिए अच्छा होगा क्योंकि हम आपको बता दे की यार राजस्थान में है और गर्मी के दिनों में यहां पर इतनी भीषण गर्मी पड़ती है  आप वहां पर जा नहीं पाएंगे अक्टूबर से मार्च के बीच के महीने में कभी भी आ सकते हैं।

खाटू श्याम जाने का रास्ता

बाबा खाटू श्याम मंदिर आप सड़क रेल और हवाई मां के द्वारा जा सकते हैं|

बस और ट्रेन द्वारा खाटू श्याम कैसे जाएं?

यदि आप दिल्ली में निवास करते है और बाबा खाटू श्याम के दर्शन करना चाहते है तो  हम आपको बता दे कि आप जिस विराज में रहते हैं वहां के बस सर्विस डिपो जाकर इसके बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं कि आपके राज्य से सीधे खाटू श्याम मंदिर कौन सा बस जाती है और अगर नहीं जाती है तो आपको रेल मार्ग का इस्तेमाल करना होगा तभी जाकर आप यहां पर पहुंच पाएंगे हम आपको बता दे की रेल मार्ग जाना चाहते हैं तो आपको रीगस स्टेशन पर उतरना होगा।

हवाई मार्ग से द्वारा कैसे जाएं?

हवाई मार्ग से अगर आप खाटू श्याम मंदिर जाना चाहते हैं तो आपको जयपुर एयरपोर्ट पर चलना होगा और वहां से आपको टैक्सी के माध्यम से यहां पर पहुंचना होगा|

खाटू श्याम बाबा के दर्शन कैसे करें?

खाटू श्याम बाबा के दर्शन 2 तरीके से कर सकते हैं दोस्त पहले आप खाटू श्याम मंदिर जा सकते हैं और ऑनलाइन तरीके से भी आप खाटू श्याम मंदिर बाबा के दर्शन कर सकते हैं क्योंकि यहां पर ऑनलाइन तरीके से आप को सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा उसके बाद ही आप खाटू श्याम बाबा के दर्शन कर पाएंगे इसकी प्रमुख वजह है कि यहां पर श्रद्धालुओं के भीड़ बहुत ज्यादा होती है ऐसे में अगर आप यहां पर जाने में असमर्थ है तो आप ऑनलाइन तरीके से भी खाटू श्याम बाबा के दर्शन घर बैठ कर सकते हैं|

ऑनलाइन माध्यम से खाटू श्याम के दर्शन प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको इसके ऑफिशल पोर्टल https://shrishyamdarshan.in  पर जाना होगा|
  • अब आप इसके होम पेज पर पहुंच जाएंगे यहां पर आपको कई प्रकार के ऑप्शन दिखाई पड़ेंगे उनमें से आपके दर्शन बुकिंग करने वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है|
  • इसके बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म ओपन हो जाएगा|
  • अब आपसे जो भी आवश्यक जानकारी यहां पर मांगी जाएगी उसका विवरण देंगे और आपको बुक दर्शन वाली ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन यहां पर सफलतापूर्वक जमा हो जाएगा|
  • इसके बाद आप आसानी से खाटू श्याम बाबा के दर्शन ऑनलाइन तरीके से कर पाएंगे | 

निष्कर्ष

आशा करता हूं कि यह आर्टिकल आपको समझ में आया होगा अगर आपको अभी भी कोई भी समस्या आए तो आप मुझसे कांटेक्ट करके पूछ सकते हैं |

FAQs

जयपुर से खाटू श्याम कितने किलोमीटर है

खाटू श्याम मंदिर भारत के राजस्थान के सीकरी जिले से करीब 65 किलो मीटर दूरी पर स्थित है|

खाटू श्याम मंदिर जाने के लिए कौन सा स्टेशन उतरना पड़ेगा?

सीकरी जिले के स्टेशन पर उतरना पड़ेगा |

जयपुर से खाटू श्याम की दूरी कितनी है?

जयपुर से खाटू श्याम की दूरी 80km है?

खाटू श्याम जाने का सही समय क्या है?

अक्टूबर से मार्च का महीना आपके लिए अच्छा होगा क्योंकि हम आपको बता दे की यार राजस्थान में है और गर्मी के दिनों में यहां पर इतनी भीषण गर्मी पड़ती है  आप वहां पर जा नहीं पाएंगे|

खाटू श्याम मंदिर दर्शन टाइम

गर्मियों में मंदिर सुबह 5:00 am बजे से 12:30 pm तक और शाम को 4:00 pm से 10:00 pm तक खुला रहता है |