शेयर बाजार से Roj 5 हज़ार Kaise Kamaye|शेयर बाजार से रोजाना 5000 कैसे कमाएं

में कपिल कश्यप आप सभी का स्वागत करता हूँ आज इस आर्टिकल में आप शेयर बाजार से शेयर बाजार से रोजाना 5000 कैसे कमाएं, दोस्तों आज के समय में पैसा सब कमाना चाहते है और पैसा कमाने के कई तरीके है जैसे बिज़नेस कर के , ऑनलाइन बिज़नेस से, या कोई नौकरी कर के लेकिन बहुत से लोग शेयर मार्किट से भी पैसा कमाना चाहते हैं। इस आर्टिकल में आप ये सब जानेंगे इसलिए आपसे निवेदन है की आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ें।

शेयर ट्रेडिंग में सही ट्रेडिंग करने का तरीका सेलेक्ट करना एक महत्वपूर्ण निर्णय है। सही तरीका चुनने से आपको अपने टारगेट को प्राप्त करने और अपने रिस्क को कम करने में बहुत हेल्प मिल सकती है।

शेयर ट्रेडिंग से रोज 5 हजार कमाने के तीन तरीके

डे ट्रेडिंग:

डे ट्रेडर एक ही दिन के भीतर शेयर खरीदते और बेचते हैं। वे शेयर मार्किट पर बहुत ही बारीक तकनीकी विश्लेषण करतें हैं और शॉर्ट टर्म प्रॉफिट वाले शेयर की पहचान करते हैं। डे ट्रेडिंग रिस्क भी बहुत ज्यादा होता है , क्योंकि इसमें एक ही दिन में ज्यादा पैसा का लॉस हो सकता है ।

स्विंग ट्रेडिंग:

स्विंग ट्रेडर कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्तों तक शेयरों को खरीद लेते हैं। ऐसे ट्रेडर ज्यादातर शेयर बाजार के बारे में बहुत गहराई से तकनीकी विश्लेषण करते हैं और कब बेचा जाये उस टाइम की फिराक में रहते हैं ताकि मौका देख कर अच्छा प्रॉफिट कमाया जा सके ।
स्विंग ट्रेडिंग डे ट्रेडिंग से कम रिस्क वाला तरीका होता है ।

पोजीशन ट्रेडिंग:

पोजीशन ट्रेडिंग में शेयर ट्रेडर किसी भी शेयर को खरीदकर लम्बे टाइम के लिए रख लेते हैं । वे बाजार का मौलिक विश्लेषण करके लम्बे समय के लिए निवेश करके फायदा लेते हैं । पोजीशन ट्रेडिंग सबसे कम रिस्क वाला तरीका होता है , लेकिन ऐसे शेयर को लम्बे टाइम के लिए अपने पास रखना पड़ता है ।

शेयर ट्रेडिंग में सही ट्रेडिंग का तरीका

आप कितना रिस्क ले सकते

हो आप कितना रिस्क लेने के लिए तैयार हैं ? डे ट्रेडिंग सबसे ज्यादा रिस्क वाला तरीका होता है, क्योंकि इसमे आपको एक ही दिन में शेयर खरीदते और बेचते हैं। स्विंग ट्रेडिंग और पोजीशन ट्रेडिंग में रिस्क थोड़ा कम होता हैं, क्योंकि आप शेयरों को लंबे समय तक अपने पास रखते हो ।

समय सीमा कितनी होती है

आपके पास ट्रेडिंग के लिए कितना समय है , डे ट्रेडिंग में बहुत ही ज्यादा समय लगता है, क्योंकि आपको एक ही दिन में मार्किट हुए उतार चढ़ाव पर नज़र रखनी होती है। स्विंग ट्रेडिंग और पोजीशन ट्रेडिंग में कम समय लगता है, क्योंकि आप उतने बार ट्रेड नहीं करते हैं।

आपका बजट कितना है

आपके पास शुरुआत करने के लिए कितना पैसा है ? डे ट्रेडिंग में स्विंग ट्रेडिंग या पोजीशन ट्रेडिंग की तुलना में अधिक पैसे की आवश्यकता होती है।
यदि आप शेयर बाजार से रोज 5000 रुपये कमाने का टारगेट रखते हैं, तो डे ट्रेडिंग या स्विंग ट्रेडिंग आपके लिए बहुत ही अच्छा ऑप्शन हो सकता हैं।

अगर आप ज्यादा रिस्क नहीं ले सकते हैं, तो स्विंग ट्रेडिंग या पोजीशन ट्रेडिंग बहुत अच्छे ऑप्शन हो सकते हैं। ये तरीके कम रिस्क वाले होते हैं, कियुँकिइसमे लम्बा टाइम मिलता है।

सही ट्रेडिंग का तरीका चुनने का सबसे अच्छा तरीका है कि विभिन्न तरीकों का प्रयोग करें और देखें कि आपके लिए कौन तरीका सबसे अच्छा काम करता है।जितना ज्यादा आप एक्सपेरिमेंट करोगे उतना ही सीखोगे।

कुछ एक्स्ट्रा टिप्स दिए गए हैं?

गिने चुने कुछ शेयर ही खरीदें

कई सारे शेयरों को खरीदने की कोशिश ना करें, कुछ ही कंपनियों के शेयरों पर अपनी नज़र रखे या उनको खरीदें जिनके बारे में आप अच्छी तरह से जानते हैं।

अधिक ट्रेडिंग ना करें

एक ट्रेडिंग का तरीका बनाएं और उसी तरीके से ट्रेडिंग करें । ज्यादा इमोशनल में आ कर ट्रेडिंग करने ना करें ।

अपने लाभ को बुक करें

जब आपके शेयरों की कीमत बढ़ जाये , तो अपना प्रॉफिट बुक करें। यह आपके रिस्क को कम करने में हेल्प करेगा।

अपनी जोखिम को कम करें

एक स्टॉप-लॉस ऑर्डर का उपयोग करके अपनी जोखिम को कम करें। यह आपको नुकसान को सीमित करने में मदद करेगा ।